Tantrik Vashikaran Using Menstrual Blood

tantricremedy   September 8, 2017   Comments Off on Tantrik Vashikaran Using Menstrual Blood

Tantrik Vashikaran Using Menstrual/Period Blood- वशीकरण बय पीरियड ब्लड/मासिक धर्म

मासिक धर्म/माहवारी/पीरियड ब्लड एक औरत के जीवन में सबसे एहम पलों में से एक होता है। यह उसे उसके औरत होना की बात याद दिलाता है, बचपन में डर के मां से इसके बारे में जा के पूछने से लेके औरत बनके इस बात को आम बातों में छुपाने तक के सफर में एक स्त्री की एक यौवन और किशोर अवस्था छुपी रहती है। अगर आप सोचें की औरत यह कार्य कैसे करती है, क्यों करती है और किस प्रकार की मुश्किलों से गुज़र कर करती है तो आप जवाब जानते हैं – हमारे समाज में ये बातें खुल कर नहीं की जाती – अगर आप विदेशी सभ्यता के मोह में पता कर लेते हैं तो अलग बात है।

Tantrik Vashikaran Using Menstrual Blood

Tantrik Vashikaran Using Menstrual Blood

स्त्रियों के इस कर्म को आसान करने हेतु आजकल कई नयी चीज़ें मार्किट में आ गयी हैं – आप अगर चाहें तो उन्हें किसी भी किराने की दुकान से खरीद सकते हैं। पर आपको शायद यह जानके आश्चर्य होगा की मासिक धर्म से आज के आधुनिक काल में भी वशीकरण किया जा सकता हैं। अगर आप चाहें तो इस दुनिया में कुछ भी कर सकते हैं, उसी पैमाने से अगर आप कोई कार्य संपन्न करना चाहते हैं या किसी से कुछ काम निकलवाना चाहते हैं तो उसके लिए बहुत पुराने ज़माने से वशीकरण का उपाय बताया गया है।

वैदिक काल जो की भारतीय प्राचीन सभ्यता के हिसाब से ईसा से कम से कम ४०००० साल पहले शुरू हो गया था में यज्ञों के दौरान अपने दुश्मनो को हानि पहुँचाने के लिए मंत्र और तंत्र लिखे पाए जाते हैं। किसी को अपनी इच्छा अनुसार काम करवा लेने के लिए भी प्रयोजन लिखे पाए जाते हैं। यह सारे लिखित कागज़ सिर्फ पहले प्राचीन वेद – ॠग वेद में ही नहीं बल्कि आखरी वेद जो की ईसा के ज़माने के बहुत पास में लिखा गया था – अथर्व वेद में पाए जाते हैं। इन वेदों में और खासकर अथर्व वेद में अभिचार का वर्णन पाया जाता है।

वैदिक काल के बाद पौराणिक काल में जनम और पुनर्जन्म की कहानियों से चीज़ों को समझाया गया है. इनमें अलग ढंग से और और ज़्यादा ढके रूप में क्रियाओं का विश्लेषण है। इस काल के बाद में बौद्धिक काल आया जब सात्विकता को राजसिक गुणों के ऊपर विजय पूरी तरह से प्रदान कर दी गयी, मानस को तप का मार्ग उत्तम दे दिया गया और योगाचार्य ही उत्तम पथ माना जाने लगा।

इसके बाद में मुसलमानो के आने पर और हमारी सभ्यता में मिल-जुल जाने पर एक अनोखी और नई व्यवस्था उभर आयी, यह व्यवस्था हालाँकि ज़बरन बनी थी, मुसलमानो ने बहुत मारकाट मचाई, ख़ासकर पंजाब, सिंध और आज के अफ़ग़ान इलाके में। इस समय टोना और टोटके प्रचलित हुए, ख़ास कर उन इलाकों में जहाँ मुसलमानो का प्रकोप ज़्यादा था जैसे बंगाल और पंजाब। आज कल इन्ही का प्रयोग होता है और इन्हीं नुस्खों को हम आपको दिखाएंगे।

सबसे पहला प्रयोग जिसमें मासिक धर्म का प्रयोग होता है और उससे वशीकरण किया जाता है है की आप अगर अपने पति या प्रेमी को वशीभूत करना चाहते हैं तो फिर आप इस नुस्खे को प्रयोग में लाएं। इस प्रयोग में आपको करना यह होगा की आप अपने पति की जनम कुंडली ले लें, प्रेमी है तो उससे उसका जन्म का समय, स्थान, तिथि जान लें। अगर आप पाएं की वह ये नहीं जानता तो आप उसे साथ लेकर किसी अच्छे ज्योतिषी के पास ले जाएं, वहां प्रश्न ज्योतिष के उपयोग से आप उसकी कुंडली के बारे में पता लगा लें। अगर उसे समय, तिथि और स्थान पता है तो फिर आप उसे ले जाकर कुंडली में बनवा लें और फिर यह देखें की उसकी कुंडली के सातवे स्थान में क्या है|

यह स्थान वैवाहिक सुख का स्थान माना गया है और इसमें अगर राहु हो तो फिर उस कुंडली में वैवाहिक सुख की प्राप्ति नहीं होती, और उपाय करने की ज़रुरत आ पड़ती है। अगर आप पाते हैं की आपके प्रेमी या पति की कुंडली में राहु का प्रकोप सातवे स्थान पर है तो फिर आप ४० दिन तक बहते पानी में बादाम या नारियल प्रवाहित करें। यह करने से आपके और आपके प्रेमी या पति के बीच में ताल मेल बना रहता है।

ऐसी कहावत है की अगर घी सीधी उंगली से नहीं निकलता तो उंगली टेढ़ी करनी पड़ती है। उसी प्रकार अगर आप पाएं की पीछे बताये प्रयोग से कार्य संपन्न नहीं हो पाता तो आप ऐसा करें की गुरुवार या शुक्रवार को रात्रि में या फिर उस रात को जब आपका मासिक धर्म चल रहा हो आप अपने पति या प्रेमी के पास अर्धरात्रि को जाएँ, उसे जगाएं नहीं और उसके करीब जाकर उसके सर के ऊपर, चोटी वाले हिस्से से थोड़े से बाल काट लें, इन्हें कहीं ऐसी जगह छुप्पा दें जहाँ पर आपके प्रेमी या पति की नज़र नहीं पड़े।

ऐसा करने से आपके पति या प्रेमी की बुद्धि का विकास होगा और वह आपकी तरफ ज़्यादा ध्यान देने लगेगा, आपकी बातों को मानने के साथ ही वह होशियार बन जायेगा। जब कुछ दिन बीत गए हों तो आप गुप्त रूप से, यानी तब जब आपका प्रेमी या पति नहीं देख रहा हो – जाएं और उन बालों को जला दें और पाँव से कुचल दें। अब इन बालों को कहीं दूर फेंक दें तो आपके कार्य में आपको सफलता अवश्य ही प्राप्त होनी चाहिए। यह कार्य आपने अगर मासिक धर्म के दौरान किया है तो फिर आपको और भी सफलता प्राप्त होगी और कार्य में वृद्धि के साथ साथ मन को सुकून तो प्राप्त होगा ही होगा।

इस तरह हमने आपके समक्ष आज कुछ ऐसे नुस्खे रखे हैं जिनको करने से आपके जीवन में नीरसता का फैलाव बंद हो जायेगा और आप फिर से एक सफल और समृद्ध जीवन जीने लगेंगी। आप के छूटे हुए प्रेमी या पति से आपका मिलाव फिर से हो जायेगा और आप फिर अपने जीवन में प्रेम, मिलाव और प्यार बढ़ता देख पाएंगे। अगर आपको तब भी कोई दुविधा हो तो आप ऐसा करें की आप हमसे सलाह मश्वरा करे और अच्छे उपाय के बारे में बात करें, वह कुंडली देख और फीस लेकर एक दो और खासे उपाय दे पायेगा। अगर आपको कार्य में सफलता तब भी हासिल नहीं होती तो आप हमारे तांत्रिक गुरु जी से मिल कर मंत्र दीक्षा ले लें।

माहवारी या मासिक धर्म से वशीकरण करने के लिए किसी भी महिला के मासिक धर्म रक्त के माध्यम से वश में कर सकते है| मासिक धर्म का प्रयोग कर कोई उस पर मंत्र सिद्धि का प्रयोग कर किसी भी स्त्री को अपने काबू में किया जा सकता है यह बहुत भी प्रभावशाली तरीका एवं टोटका है जिसके प्रयोग से असर भी जल्दी दिखने लगता है | किसी भी विधि का प्रयोग से पहले अवश्य हमारे तांत्रिक गुरु जी से परामर्श करे और अपने जीवन में खुशियाँ पाए|