Pati se Apni Baat Manwane ke Tantrik Upay Totke

tantricremedy   August 22, 2017   Comments Off on Pati se Apni Baat Manwane ke Tantrik Upay Totke

Pati se Apni Baat Manwane ke Tantrik Upay Totke- पति से अपनी बात मनवाने के उपाय टोटके

कोई भी साधक अपनी बात किसी से भी मनवाने के लिए तांत्रिक उपाय मंत्र का प्रयोग किसी से अपनी बात मनवा सकते है| ऐसा बहुत सी परिस्थितियों में होता है की आप अपना पक्ष रखने से पहले ही जवाब पा जाते हैं, इसका सबसे बड़ा कारण होता है की लोग अपनी ही धुन में चलते रहते हैं, वे आपकी बात नहीं सुनते और आपके पक्ष को अहमियत नहीं देते। कई बार ऐसा भी होता है की आपका बात करने का रव्वैया ज़्यादा अस्सेर्टिव नहीं  होता जिस कारण आप पाते हैं की लोग आपकी बात काट देते हैं और अपनी ही तूती बुलवाने की कोशिश में लगे रहते हैं।

Pati se Apni Baat Manwane ke Upay Totke

Pati se Apni Baat Manwane ke Upay Totke

सब कोई वकील या डाक्टर तो होता नहीं है, कुछ लोग वकील होकर अपनी नोक-झोंक से अपने काम में निपुण हो जाते हैं, डॉक्टर तो सफ़ेद झूट बोलकर सही दिशा में कार्य करवाने में उस्ताद होते हैं। पर फंसता तो आम आदमी है, जो अगर दफ्तर में कोई काम करने जाये तो दिक्कत, स्कूल में बात करने जाए तो दिक्कत और अगर किसी वजह से पुलिस या कोर्ट कचेहरी  के चक्कर लग गए तो तो पूछो ही मत!

इन सब परिस्थितियों में लोग फंस जाते हैं – उन्हें काम निकलवाने में मुश्किलों के सागर का सामना करना पड़ता है और वे एक अत्यंत जटिल समस्या में एक विक्टिम का किरदार निभाने लगते हैं।  ऐसे में कौन सी परिस्थिति सबसे ज़्यादा विशिष्ट है ? वह कौन सा तरीक़ा है जिसको करने से इंसान अपनी बात मनवा पायेगा ? यह समझने और समझाने के लिए यह लेख है। अगर आप पाते हैं की आपका प्यार आपसे दूर जा रहा है तो फिर आप हमारे बताये हुए कार्य को करें – इसमें आपको निम्नलिखित सामग्री की ज़रूरत पड़ेगी –

  1. चांदी का सिक्का
  2. मिटटी की कटोरी
  3. ७ सूअर के दाँत
  4. और एक मीटर लाल कपडा

विधि इस प्रकार है की अमावस्या की रात को चांदी का सिक्का लें और उस पर अपने प्रेमी या प्रेमिका का नाम लिख दें, इसके बाद उसकी जन्म तिथि भी लिख दें। अब आपको किसी ऐसी जगह जाना होगा जहाँ पर आपका प्रेमी या प्रेमिका रोज़ जाता हो और वहां से जाकर थोड़ी सी मिटटी ले आएं। अब आप इस मिटटी को, उन सूअर के दांतों को और चांदी के सिक्के को मिटटी की कटोरी में रख लें – ध्यान रहे मिटटी नीचे, और दांत और सिक्का ऊपर रहे। अब आप उस बर्तन के मुंह को लाल कपडे से अच्छे और मजबूत ढंग से बांध दें – अब इस पूरे मिश्रण को ले जाकर किसी खेजड़ी के वृक्ष के नीचे दबा दें। यह याद रहे की जब आप मिश्रण को गाड़ के वापस आ रहे हों तो किसी भी कारण या अकारण पीछे मुड़कर मत देखें, यह अत्यंत अशुभ माना जाता है।

यह करने से आपकी बात न सुनने वाला व्यक्ति ११ दिनों में वापस लौट आएगा और आपकी बात हमेशा सुनेगा, वह यह कभी नहीं सोचेगा की आपकी बगावत की जाये या आपसे अच्छा कोई ढूंढा जाये, वह आपके करीब हो जायेगा और आपसे दूर रहना कतई पसंद नहीं करेगा। लाल किताब के हिसाब से भी अलग अलग ग्रह दशाएं अलग अलग प्रकार के फल प्रदान करती हैं, इनको समझ लेने से आपके जीवन की निराशा और मोह ख़तम हो जायेगा, इसलिए इनको समझ लेना, एक समझदारी का प्रयोग है –

  • चंद्र – सम्मानजनक पद के रिश्तों वाली स्त्रियों को कष्ट देना, जैसे माता, नानी, दादी, सास और नन्द आदि को कष्ट देने से चंद्र अशुभ फल देता है।
  • बुध – बहिन, साली, बेटी और बुआ को कष्ट देने से, एवं मौसी को कष्ट देने से बुध खराब फल देगा। हिजड़ों को कष्ट देने से बुध अशुभ फल देता है।
  • गुरु – अपने नाना, दादा और पिता को कष्ट देने पर, या फिर अपने गुरु को कष्ट देने पर यह ग्रह अशुभ फल देता है।
  • सूर्य – किसी का दिल दुखने पर, किसी का टैक्स यानी कर चोरी करने पर तथा किसी भी जीव की आत्मा को कष्ट पहुंचाने पर सूर्य अशुभ फल देगा।
  • शुक्र – अपने जीवन साथी को कष्ट देने, या फिर गंदे वस्त्र पहनने या घर में रखने पर यह ग्रह अशुभ फल देता है।
  • मंगल – भाई के साथ धोखा करने या फिर भाई को कष्ट देने पर यह गृह अशुभ फल देता है, बीवी के भाई को भी कष्ट देने पर यही फल मिलेगा।
  • शनि – ताऊ या फिर चाचा को कष्ट देने पर, या फिर किसी भी मेहनत करते व्यक्ति को कष्ट देने पर यह ग्रह अशुभ फल देगा, अगर आप घर किराये पर उठाकर उसे वापस करने में झगड़ा करते हैं तो भी फल स्वरुप कष्ट मिलेगा।
  • राहु – सपेरे को कष्ट पहुँचाने पर, बड़े भाई को दुःख देने पर या फिर ननिहाल का अपमान करने पर राहु अशुभ फल देगा।
  • केतु – कभी झूठी गवाही देने पर, कोई मंदिर या ध्वज नष्ट करवाने पर, कंजूसी करने पर, कुत्ते को मरने या मरवाने पर तथा भतीजे या भांजे को दुःख पहुँचाने पर केतु अशुभ फल देगा।

इस तरह हमने आपके समक्ष कई तरह की परिस्थितियां रखी हैं, जिनके हिसाब से अगर आप काम करेंगे तो लोग शुभ फल देने पर मजबूर हो जायेंगे, वे चाह कर भी आपको अशुभ फल नहीं देंगे। आप पाएंगे की लोग फिर आपकी तरफ आकर्षित हो रहे हैं और आपकी बाते मानने लगे हैं। आपको कुछ भी ज़यादा नहीं करना पड़ेगा, केवल इतना करना पड़ेगा की हमारे द्वारा बताई हुई विधि को अमल करें और हमारे द्वारा बताये हुए तरीके से अशुभ परिस्थितयों से दूर रहे। आपका कार्य अवश्य ही सिद्ध होगा क्यूंकि इसमें कोई दो राय नहीं की जब इंसान सही विधि से, सही सामग्री से और सही समय पे कार्य संपन्न करता है तो उसे किसी और चीज़ की ज़रुरत नहीं होती, सफलता उसके कदम चूमने अपने आप चली आती है।

हाँ, अगर आपको किसी विधि,पॉइंट या सामग्री में शंका आये या आप किसी कारण असमंजस में हो की कोई कार्य करना चाहिए की नहीं तो फिर आप बेझिजक हमारे तांत्रिक गुरु जी से परामर्श कर लें, वे आपके डाउट को दूर कर देगा, आपकी किसी भी और परेशानी को प्रश्न मानकर अपने तरीके से समझ कर आपकी दुविधा दूर कर देगा, अगर आप तांत्रिक गुरु जी से मन्त्र में दीक्षा लेना चाहते हैं तो फिर आप हमसे से सम्पर्क कर , दक्षिणा दें और मार्ग दर्शन मांगे, आपके कार्य में आपको सफलता अवश्य मिलेगी।

कोई भी साधक अपनी बात किसी से भी मनवाने के लिए तांत्रिक उपाय मंत्र का प्रयोग किसी से अपनी बात मनवा सकते है| यदि कोई स्त्री/पत्नी अपने पति से अपनी बात मनवाने के लिए मंत्र टोन टोटके का प्रयोग कर सकती है| यदि आप आपका पति आपकी नहीं सुन रहा है तो हमारे तांत्रिक उपाय का अमल करे सूरे सफलता मिलेगी| यदि अभी समस्या जस की तस है तो तांत्रिक गुरु जी से सलाह लेवे और किसी भी समस्या का तुरंत समाधान पाए|