Pair ki mitti se kisi ko vash me karne ka tantric solution

tantricremedy   August 16, 2018   Comments Off on Pair ki mitti se kisi ko vash me karne ka tantric solution

Pair ki mitti se vashikaran ka tantrik solution

पैर की मिट्टी/चिता की राख/शमशान की मिट्टी से वशीकरण

श्मशान कि साधना को काली साधना के श्रेष्ठ माना जाता है यह साधना अधिकतर अमावस की रात्रि में होती है तथा यह मुख्यता तांत्रिकों द्वारा की जाती है इसे तांत्रिक साधना भी कहते हैं इस साधना में श्मशान में साधक वशीकरण आकर्षण सम्मोहन आदि शक्तियां प्राप्त कर लेता है तथा किसी भी व्यक्ति को अपने वश में करने की शक्ति प्राप्त कर लेता है श्मशान में महाकाली की साधना की जाती है अघोरी यह तांत्रिक शव पर बैठकर अपनी सिद्धि पूरी करते हैं यह एक चमत्कारी साधना होती है इससे प्राप्त शक्तियां बड़े से बड़े कार्य आसानी से कर देती है|

pair ki mitti se vashikaran

pair ki mitti se vashikaran

वशीकरण विधि

यह वशीकरण अत्यंत तीव्र वशीकरण होता है इसके लिए किसी अमावस की रात्रि में आपको शमशान जाना होगा तथा शमशान से मिट्टी लेकर घर आना होगा ध्यान रहे मिट्टी को घर के अंदर नहीं लाना है इसको घर के बाहर किसी स्थान पर रख देना है उसके बाद एक कागज में उस व्यक्ति का नाम लिखना है जिसको आप वश में करना चाहते हैं अब इस कागज़ को एक बोतल में बंद कर दें यह किसी मिट्टी के घड़े में डाल दे और उस घड़े में शमशान की मिट्टी डालकर मंत्र द्वारा फूंक मारें और किसी सुनसान जगह यह पेड़ के नीचे रख दें यह क्रिया करते हुए आपको कोई देख ना पाए इस विषय का विशेष ध्यान रखना है तभी यह वशीकरण प्रयोग सिद्ध होगा

मंत्र

नमो नमो काली कालीक: आमुख  आकर्षक आकर्षक बड़े वेग आकर्षण जीण माता जागी सोई वाट किलो ओम श्री राम आकर्षण स्वाह:|

पैर की धूल से वशीकरण

आप पैर की धूल से किसी भी स्त्री को अपने वश में कर सकते हैं तथा अपनी मनवांछित इच्छाओं को उसके द्वारा पूर्ण करा सकते हैं यह वशीकरण अत्यंत तीव्र होता है एवं शीघ्र पूर्ण होने वाला होता है इस वशीकरण के द्वारा आप अपने प्रेम को प्राप्त कर सकते हैं रूठे हुए प्रेमी जनों को मना सकते हैं तथा इसके द्वारा जीवन में धन दौलत सुख ग्रह शांति आदि प्राप्त की जा सकती है।

वशीकरण विधि

इस वशीकरण विधि को करने के लिए होली के दिन को शुभ माना जाता है तथा इस दिन यह सिद्ध होता है इसके लिए आप को सर्वप्रथम स्नान कर स्वच्छ वस्त्र धारण कर आसन लगा कर बैठ जाना चाहिए तथा संध्या के समय इस वशीकरण क्रिया को करना चाहिए इसके लिए आपको साध्या के बाए पैर की मिट्टी को लेकर मंत्र के द्वारा उसे अभिमंत्रित करना चाहिए इसके लिए आपको २१ बार मंत्र पढ़कर उस मिट्टी में फूंक मारने होगी तथा ११ माला आपको होली की रात्रि में जप करना होगा । मंत्र के मध्य में अमुकी के स्थान पर साध्या का नाम लेकर एक चुटकी मिट्टी लेकर उसके सर पर डालनी चाहिए यह मिट्टी जिस भी स्त्री के सर पर डालेंगे वह आपके वश में हो जाएगी तथा आपकी समस्त इच्छाओं को पूर्ण करेगी।

मंत्र

धूल धूल तू धूल की रानी जगमोहन सुन मोर बानी जल से धुला आन पढ़ू तब पार्वती वरदान धूलि पड़ी दू अमुकी अंग जो जलती आती उमंग उसका मन लावे निकाल हमारी वश्यता करें स्वीकार

सावधानियां:-

यह वशीकरण  तीव्र वशीकरण होता है इसके द्वारा आप किसी भी व्यक्ति को कुछ ही क्षणों में अपने वश में कर सकते हैं तथा अपनी इच्छाओं को उसके द्वारा पूर्ण करा सकते हैं पर यह वशीकरण क्रिया करने से पहले यह ध्यान रखें कि इसे किसी द्वेषपूर्ण भावना से या बदला लेने की भावना से नहीं करना चाहिए एवं मंत्रोच्चारण करते समय आपका उच्चारण शुद्ध होना चाहिए एवं यह वशीकरण क्रियाएं किसी एकांत स्थान पर करनी चाहिए नहीं तो यह सिद्ध नहीं होती।

चिता की राख से वशीकरण

अधिकतर तांत्रिक क्रियाएं श्मशान में ही संपन्न होती हैं क्योंकि श्मशान ही तांत्रिक क्रियाओं के लिए श्रेष्ठ माना गया है और यहां की गई सभी तांत्रिक क्रियाएं अत्यंत तीव्र एवं कार्य पूर्ण करने वाली होती हैं श्मशान की राख के द्वारा किया गया वशीकरण अत्यंत तीव्र होता है यह वशीकरण इतना तेज होता है कि इसके द्वारा किसी इंसान यह जानवर तक को भी आप अपने वश में कर सकते हैं कहा जाता है कि इस वशीकरण के द्वारा आप अपनी इच्छा जानवरों तक से पूर्ण करा सकते हैं इसका पौराणिक वेदों और शास्त्रों में भी इसका वर्णन मिलता है।  इस वशीकरण से आप किसी भी स्त्री को अपने वश में करके अपनी इच्छा को पूर्ण करा सकते हैं एवं इस मंत्रों द्वारा आप दूर बैठे किसी भी व्यक्ति को अपने पास बुला सकते हैं

वशीकरण विधि

इस वशीकरण विधि कर को करने के लिए आप किसी सुनसान स्थान यह एकांत स्थान पर शनिवार के दिन रात्रि में उत्तर दिशा की तरफ मुंह कर आसन लगा कर बैठ जाएं तथा सफेद कागज में उस स्त्री का पूरा नाम लिखें और कागज को मोड़कर किसी मिट्टी के घड़े में रख दें अब इस घड़े में श्मशान की राख डाल दें और एक नींबू को बीच से काट लें तथा उसके दोनों भागों पर स्त्री की पैरों की मिट्टी लगा दे मिट्टी नींबू के अंदर की तरफ लगाना है अब वह नींबू उसी घड़े में रख दें और उसके सामने लकड़ियों से आग जला दें अब अपने दाएं हाथ में चावल लेकर मंत्रों को १२१ बार पढ़ें और आग के चारों ओर सात चक्कर लगाएं तथा मंत्रों के साथ चावल को घड़े में डालते रहें तत्पश्चात घड़े को लाल कपड़े में लपेटकर श्मशान में छोड़ आये अगले दिन जब आप उस स्त्री के सामने जाएंगे तो वह पर मोहित हो जाएगी तथा आपके समस्त इच्छाओं को पूर्ण करेगी।

मंत्र

ॐ नमोह अधोर ह्रीम अधोर हूँ घोर घोरतरे सर्वे सर्वे

रुपये ह: ए ह्रीम कलीम चमुंडाये विच्च विच्च

नवाक्षर चंडीमंत्रे निमंत्रऎ त्वच बलिपूर्वक

सावधानियां

यह मंत्र प्रयोग अत्यंत सावधानी से करना चाहिए क्योंकि यह वशीकरण प्रयोग अत्यंत तीव्र होता है इसे किसी सुनसान या एकांत स्थान पर ही करना चाहिए तथा यह वशीकरण प्रयोग केवल पुरुष ही कर सकते हैं महिलाओं के लिए यह वर्जित है तथा इस प्रयोग के विषय में आप किसी से बात ना करें एवं घड़े को अपने पास ना रखें इसे मंत्र योग के बाद तुरंत ही श्मशान में छोड़ आए इस विधि को करने के लिए शनिवार का दिन शुभ माना गया है तथा इसे सूर्य अस्त के बाद ही प्रारंभ करें।

पैर की मिट्टी या चिता की राख़ या श्मशान की मिटटी किसी से भी प्यार का वशीकरण किया जा सकता है| कोई भी तांत्रिक उपाय से पहले तांत्रिक गुरु जी से मश्वरा अवश्य करे|